क्या है Hibernate (सीतनिद्रा) मे कंप्यूटर/लैपटाप को ले जाने का फायदा?

अपने डेस्क्टाप या लैपटाप को Hibernate करने का बहुत फायदा है और एक बार ईसका ईस्तेमाल करेंगे तो बार बार ईस्तेमाल करने की आदत पड जाएगा।

Sleep मूड तो आप जानते ही है लेकीन ईसमे कंप्युटर बंद नही होता है और माउस को हिलाने से या किबोर्ड पर कोई भी बटन दबाने पर Sleep मूड से बाहर आ जाता है पर ईसमे बैटरी की जरूरत होती है।

 

 

 

अब चलते हैं Hibernate के फायदे गिनने।

1. कंप्युटर मे आप जो भी काम कर रहे होते हैं वह हाईबरनेट करने के बाद दोबारा कंप्युटर चालू करेंगे तो जो भी आपने विन्डो, साफ्टवेयर खूला छोडा हो वो वैसे का वैसा ही खूल जाएगा। मतलब जरूरत पडने पर कहीं जाना पडे तो Hibernate का ईस्तेमाल कर सकते हैं और वापस आ कर अपने उस काम पर लग सकते हैं।

2. कंप्युटर बंद हो जाता है, बैटरी का ईस्तेमाल नही होता है जबकी Sleep मूड मे बैटरी ईस्तेमाल होता है।

घयान रहे, Hibernate ठिक उतना ही डिस्क-स्पेस ईस्तेमाल करता है जितना आपके कंप्युटर मे रैम है। RAM अगर 2GB है तो 2GB का 75% या 100% ईतना डिस्क सिस्टम डिस्क मे जगह ले लेता है चाहे आप ईस आपसन का ईस्तेमाल करे या नही करें।

 

समए नही मिल पाता है क्यों की बहुत सारे प्रोजेक्ट पर काम करना पडता है ईसलिए ज्यादा नही लिख पाया। Android App, Software development, Hosting, Server Management, आदी हैं जो वक्त को खा जाते हैं।

2 responses to “क्या है Hibernate (सीतनिद्रा) मे कंप्यूटर/लैपटाप को ले जाने का फायदा?

एक दम मजे मे हूं। अब बहोत अच्छा लगता है क्यों की पूरी तरह से ठिक हो चूका हूं।

Leave a Reply