डामेन खरीद लीये हैं तो क्या करें की खूब चले

क्या आपने कोई डोमेन खरीद लीया है और उसपर कम लोग आ रहे हैं?

चिन्ता मत करीये और मेरा ये मसहूर फोर्मूला अपनाईये।

अगर बहूत महंगा डामेन लीये हैं या अगले साल ही उसे बंद करने वाले हैं तो उसपर ये फार्मूला मत लगाईयेगा।

ब्लाग हो या अपना डोमेन दोनो मे बस आसमान और जमीन का अंतर है।
ब्लाग मे खूब मेहनत करेंगे तो भी एक खरीदे हूवे डोमेन से 70% पीछे ही रहेंगे।

जो मन करे वही करीये
तो चलीये अपनाईये ये फार्मूला।

1. अगर आपके साईट पर बहूत कम लोग आते हैं तो ईसका एक ही कारण है की साईट के कांटेंट रोचक न ही है या फिर कोई उस तरह के कांटेंट को पढना नही चाहते

ढेर सारे कई प्रकार के सामग्री रखें
एक ही चीज पर लिखने या डालने से आपका साईट का सतर गिरता जाएगा या अगर उससे आपको फायदा होता है तो वही लिखते रहें।

साईट मे सिर्फ एक हि टाईप के सामग्री डालने से सिर्फ वही लोग आएंगे जिनको उसमे रूची होगी या उसकी जरूरत होगी

आपके साईट मे हर सामग्री होनी चाहीये
साईट मे हम एक फोलडर बनाने से हमे एक नया लिंग मील जाता है जैसे example.com/mobile अब आप अपने साईट मे ये कांटेंट डाल सकते हैं
1. मोबाईल के साफटवेयर(फ्री वाले)
1.1 मोबाईल का वालपेपर,लोगो या मोबाईल से जूडी जानकारीयां जैसे secret code या मोबाईल के बारे मे उसका प्राईज, कौन सा लेटेस्ट है और ये सब जानकारीयां आपको गूगल मे मील जाएगा।

2. साफटवेयर(फ्री वाले जैसे:- याहूमेसेंजर, गूगल अर्थ

३. कंप्यूटर कि जानकारी, hard disk,ram कितने का आता है आदी.

3.1 लोगो की जरूरतो को समझें और यह देखे की आपके किस पेज पर कितना क्लिक हूवा।

4. ग्रीटींगस भेजने वाला स्क्रीपट भी डाल लें

5. फोरम जैसे :- हिन्दीब्लागर समस्या, या आपको जो अच्छा लगता हो उसपर भी टोपीक बना सकते हैं।

6. अब मै कितना बताऊ थक गया लीखते लीखते

गूगल मे जाएं और देखें औन सी बात ज्यादा पापूलर है या आप अपने साईट मे गेम भी डाल सकते हैं जीसपर लोग खेल सकें।

ये सब चिजे एक ही साईट मे डालें मतलब ये नही की कीसी एक चिज पर आपने साईट खोल दीया।

न्यूज भी डाल सकते हैं – सिर्फ मजेदार न्यूज

जोक्स,रिंगटिन, mp3,टेम्पलेटस भी डाल दें।

मेरे कहने का मतलब है आप जितना ज्यादा कांटेंट अलग अलग डाल सकते हैं तो डाल दें।
और अपने साईट मे अलग अलग के कांटेंट डालते रहें जितना ज्यादा हो सके।

हर चिज पर आपके साईट मे कांटेंट होना चाहीये अगर आप तकनीक नही भी जानते तब भी आप ये सब आसानी से कर सकते हैं।

कूछ साईटे जो ये करती हैं वो हैं tarkash, mywebduniya, etc..

अगर आप कोई कम्यूनीटी साईट, फोरम या कूछ भी बनाया है तो लोगो को पूरी छूट दें की वो आपके साईट पर अलग अलग टोपीक डालें सिर्फ एक टापीक वाले साईट ज्यादा नही चल पाते हैं बस उनपर थोडे से विजीटर आते हैं उनहे प्रोतसाहीत करें।

आप मेरा मतलब समझ ही गैं हैं की जब ट्रेन मे चढ गै हैं तो चलती ट्रेन से आधे रास्ते में ही कूदने से क्या फायदा

जय श्री राम!

Our New Site www.Dewlance.com

No comments have been made. Use this form to start the conversation :)

Leave a Reply